समोह में पुलिस पर हमला, एएसआई और हेड कांस्टेबल को धक्का देकर 30 फीट नीचे खाई में फेंका; केस दर्ज


शाहतलाई3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • रास्ते के विवाद को लेकर हुई शिकायत पर समोह गई थी पुलिस

रास्ते के विवाद को लेकर शिकायत की जांच करने के लिए समोह पहुंची झंडूता थाना की पुलिस टीम पर एक परिवार के सदस्यों ने जानलेवा हमला कर दिया। दबंगई दिखाते हुए एक आरोपी ने 2 पुलिस कर्मियों को ढांक से धक्का देकर जान से मारने का प्रयास किया। हमले में कुछ पुलिस कर्मियों को जहां चोटें आई, वहीं वर्दी भी फट गई। थाना से अतिरिक्त पुलिस फोर्स बुलाकर बड़ी मुश्किल से आरोपियों को काबू किया।

उनके खिलाफ हत्या के प्रयास समेत आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। विवाद को सुलझाने झंडूता थाना से एसएचओ हरपाल सिंह और एएसआई संजय व राजेश समोह पहंुचे। पुलिस के सामने ही बांकूराम, उसकी पत्नी रीता और बेटा सुनील शिकायतकर्ता परिवार से उलझ पडे़। वे उन्हें गोली मारकर जान से मारने की धमकी देने लगे।

पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। आरोपियों को थाने ले जाते समय घटनास्थल से महज 40-50 मीटर दूर सुनील ने अचानक अपना हाथ छुड़ाकर हेड काॅन्स्टेबल विजयराम को ढांक से नीचे की ओर धक्का दे दिया। एएसआई राजेश ने विजयराम को पकड़ने के लिए हाथ बढ़ाया, लेकिन सुनील ने उन्हें भी धकेल दिया। इससे दोनों ढांक में 25-30 फीट नीचे पहुंच गए।

खुद को बचाने के लिए उन्होंने झाड़ियांे व टहनियों का सहारा लिया। इसी बीच सुनील ढांक से नीचे उतरा और अपने पैरों से उनके हाथों पर वार करने लगा। इसी दौरान एएसआई संजय ने ढांक में उतरकर किसी तरह सुनील को काबू किया। तब कहीं जाकर ढांक में फंसे राजेश व विजय राम ऊपर आ सके।

उधर, अपने बेटे की तर्ज पर बांकूराम ने एसएचओ हरपाल सिंह व कांस्टेबल देवेंद्र पर लात-मुक्के बरसाते हुए वहां से भागने का प्रयास किया। बांकूराम द्वारा गले से पकड़ने की वजह से देवेंद्र की वर्दी भी फट गई। वहीं रीता भी अपने पति व बेटे के साथ महिला कांस्टेबल से धक्कामुक्की करती रही। एएसआई राजेश व हेड कांस्टेबल विजयराम घायल हो गए। एसएचओ व कांस्टेबल देवेंद्र को भी चोटें आई। बाद में तीनों आरोपियों को थाने ले गए। डीएसपी अनिल ने बताया कि धारा 353, 332, 307 व 34 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।



Source link

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *